Category: Blog

Category: Blog

पौधे की वृद्धि और विकास में पोटेशियम (के) की भूमिका
Image March 7, 2018 Blog,Blogs Hindi admin

पोटेशियम कई पादप प्रक्रियाओं के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। यह विकास में कई महत्वपूर्ण नियामक भूमिकाएं निभाता है। एंजाइम ऐक्‍टीवेशन: पोटेशियम पौधे की वृद्धि में शामिल कम से कम 60 विभिन्न एंजाइमों को “सक्रिय” करता है। पोटेशियम (के) एंजाइम अणु के भौतिक आकार को बदलता है, प्रतिक्रिया के लिए रासायनिक रूप से सक्रिय यथोचित
Details

अनार में पोषण प्रबंधन
Image March 7, 2018 Blog,Blogs Hindi admin

खनिज पोषक तत्व प्रकाश संश्लेषण से होने वाले वाले उत्पादन के अवयव होते हैं। कार्बन, हाइड्रोजन, ऑक्सीजन, नाइट्रोजन, सल्फर, मैग्नीशियम, कैल्शियम जैसे पोषक तत्व पौधे की काया के अवयव हैं और अन्य पोषक तत्व उत्प्रेरक के रूप में उपयोगी होते हैं। शोध के अनुसार, 10 मीट्रिक टन अनार का उत्पादन करने के लिए 11.2 किलोग्राम
Details

प्रयोगशाला प्रमाणन
Image March 7, 2018 Blog,Blogs Hindi admin

प्रयोगशाला प्रमाणन क्या है: प्रयोगशाला प्रमाणन (लैबोरेटरी अक्रेडिटेशन) मूलत: परीक्षण प्रयोगशालाओं की गुणवत्ता और तकनीकी सक्षमता के अन्य-पक्ष द्वारा मूल्यांकन की एक व्यवस्था है। जहां आईएसओ 9000 प्रमाणन केवल गुणवत्ता प्रणाली प्रबंधन से ही सरोकार रखता है, वहीं एनएबीएल प्रमाणन प्रयोगशाला की तकनीकी क्षमता को औपचारिक मान्यता प्रदान करता है और इसलिए यह प्रणाली प्रमाणन
Details

आवश्यक पोषक तत्व और उनके सकारात्मक एवं नकारात्मक प्रभाव
Image February 6, 2018 Blog,Blogs Hindi admin

फसलों की पर्याप्त वृद्धि, पैदावार और गुणवत्ता के लिये पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। प्रकृति में स्वाभाविक रूप से 16 तत्व पाये जाते हैं, जो पौधों के मेटाबॉलिज्म की कार्यप्रणाली में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। उन पोषक तत्वों के अभाव से पौधे अपना जीवनचक्र पूरा नहीं कर पाते है और इसलिये, उन्हें पौधों की
Details

अनार में ऑयली स्‍पॉट रोग की रोकथाम
Image February 6, 2018 Blog,Blogs Hindi admin

अनार में ऑयली स्‍पॉट रोग को तेल्‍या/बैक्‍टीरियल ब्‍लाइट/नोडल ब्‍लाइट और लीफ स्‍पॉट्स के नाम से जाना जाता है। ये रोग बैक्‍टीरिया (झंथोमोनस ऑक्‍सीनोपोडीस पीवी पूनीके) के कारण होता हैं। वर्तमान में यह रोग बड़े पैमाने पर फैला हुआ है और सभी प्रमुख अनार उत्‍पादक राज्‍य जैसे महाराष्‍ट्र, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश और गुजरात इसमें शामिल हैं। अनार
Details

गन्‍ना: प्रति एकड़ 100 मेट्रिक टन का लक्ष्‍य
Image February 6, 2018 Blog,Blogs Hindi admin

सी-4 पौधा होने के कारण गन्‍ना सौर ऊर्जा को उपयोगी बायोमास में बदलने वाला एक सक्षम परिवर्तक है। सैद्धांतिक रूप से गन्‍ने की क्षमता करीब 525 किलोग्राम/दिन/एकड़ (188 मेट्रिक टन/एकड़/साल) होती है। आखिरकार गन्‍ने की पैदावार मिलेएबल गन्‍ने और प्रति एकड़ गन्‍ने के औसत वजन का परिणाम है। 100 मेट्रिक टन/एकड़ के लिये गन्‍ने 2
Details

प्याज की बेहतर उपज के लिए अच्छी पोषण प्रबंधन प्रणालियों का उपयोग
Image January 19, 2018 Blog,Blogs Hindi admin

एक हेक्टेयर में करीब 30 मीट्रिक टन प्याज के उत्पादन के लिए प्याज की फसल मिट्टी से लगभग 80 किग्रा एन, 35 किग्रा पी205 और 100 किग्रा के2ओ खींचती है। सेकेंडरी और सूक्ष्म पोषक तत्व भी मिट्टी से खींचे जा सकते हैं। प्याज का मसालेदार रूचि और इसकी टिकाऊपन, टीएसएस और अलाइल डाईसल्फाइड की मात्रा
Details

मिट्टी की उर्वरता और पैदावार की स्थिरता बढ़ाने के लिए मिट्टी में मौजूद जैविक कार्बन महत्वपूर्ण होता है
Image January 19, 2018 Blog,Blogs Hindi admin

मिट्टी में मौजूद कार्बन में जैविक और अजैविक कार्बन होता है। सॉइल ऑर्गेनिक कार्बन की मौजूदगी मिट्टी के जैविक पदार्थ में कार्बन सामग्री का पता चलता है, जबकि सॉइल इनऑर्गेनिक कार्बन की मौजूदगी मिट्टी में सेकेंडरी कार्बोनेट के रूप में होती है। मिट्टी में जैविक कार्बन पौधों की जड़ों के जैविक मलबे, जीवों और कूड़े
Details

5 Mistakes Farmers Should Avoid While Applying Fertilisers
Image December 19, 2017 Blog admin

Here are five basic mistakes farmers should watch out for to ensure a successful harvest of crops

Harvesting Tips For Grapes
Image December 19, 2017 Blog admin

From the right harvesting time to the correct harvesting technique and post-harvesting measures, there are a number of things you must consider while harvesting grapes. Here are a few tips that will help you get a good harvest. TSS and sugar acid ratio: Here TSS means Total Soluble Solids, which is basically sugar content in
Details

Mahadhan SMARTEK