Category: Blog

Category: Blog

ಸಲ್ಫರ್ ನ ಪ್ರಾಮುಖ್ಯತೆ ಮತ್ತು ಕಬ್ಬಿನ ಬೆಳೆಯಲ್ಲಿ ಸಲ್ಫರ್ ನ ಪಾತ್ರ
Image March 8, 2019 Blog admin

ಬೆಳೆ ಪೋಷಣೆಯಲ್ಲಿ ಬೆಳೆಯ ಸಂಪೂರ್ಣ ಕಾಲಾವಧಿ ಯಲ್ಲಿ 16 ತರಹದ ಪೋಷಕಾಂಶಗಳು ಬೇಕು. ಅದರಲ್ಲಿ ಸಾರಜನಕ ರಂಜಕ ಮತ್ತು ಪೊಟ್ಯಾಷ್ ಪ್ರಮುಖವಾದವು. 4ನೆಯ ಪ್ರಮುಖ ಪೋಷಕಾಂಶವೆಂದರೆ ಅದು ಗಂಧಕ( ಸಲ್ಫರ್ ). ಹಸಿರು ಕ್ರಾಂತಿಯ ನಂತರದ ದಿನಗಳಲ್ಲಿ ಹೆಚ್ಚು ಇಳುವರಿಯ ತಳಿಗಳನ್ನು ಉಪಯೋಗಿಸುವುದರಿಂದ, ಹೆಚ್ಚು ಉತ್ಪಾದನೆಯನ್ನು ತೆಗೆಯುತ್ತಿರುವುದರಿಂದ, ಯಥೇಚ್ಛವಾಗಿ ನೀರಾವರಿ ನೀರನ್ನು ಉಪಯೋಗಿಸುತ್ತಿರುವುದರಿಂದ ಹಾಗು ಅಸಮತೋಲಿತ ಪ್ರಮಾಣದಲ್ಲಿ ರಸಗೊಬ್ಬರಗಳನ್ನು ಬಳಸುತ್ತಿರುವುದರಿಂದ ಇತ್ತೀಚಿನ ದಿನಗಳಲ್ಲಿ ಮಣ್ಣಿನಲ್ಲಿ ಗಂಧಕದ ಕೊರತೆಯು ಕಂಡುಬರುತ್ತಿದೆ. ದಕ್ಷಿಣ ಭಾರತದ ರಾಜ್ಯಗಳಲ್ಲಿ ಇತ್ತೀಚಿನ ವರದಿಗಳ ಪ್ರಕಾರ
Details

गंधक वापरा व ऊसाची उत्पादकता हमखास वाढवा
Image March 8, 2019 Blog,Blogs Marathi admin

महाराष्ट्रात गेल्या साठ वर्षात साखर कारखानदारी बरोबर ऊसाचे क्षेत्र , साखर उत्पादन यामध्ये भरीव वाढ झालेली दिसून येते . मात्र प्रति हेक्टरी ऊस उत्पादकतेमध्ये फारशी वाढ झाल्याचे दिसून येत नाही .आजही राज्याची सरासरी उत्पादकता एकरी ३५ टन एवढीच आहे. या परीस्थितीत ऊसाखालील क्षेत्र वाढविण्यापेक्षा ऊसाची प्रति हेक्टरी उत्पादकता व त्याचबरोबर साखरेचे उत्पादन वाढवणे हि आजची
Details

Productivity improvement in Sugarcane by using Sulphur
Image March 8, 2019 Blog admin

Importance of Sulphur “S” in Sugarcane Nutrition In Crop Nutrition Science, the first three important Major/Macro plant nutrients are; Nitrogen, Phosphorous, Potash Initially Sulphur was considered as the 6th important nutrient after Calcium(4th) and Magnesium(5th) in the Plant nutrient requirement index. With the increase in use of high yielding varieties of cash crops, rising intensive
Details

खोडवा उसाचे अन्नद्रव्य व्यवस्थापन
Image January 23, 2019 Blog,Blogs Marathi admin

खोडवा उसाचे योग्य प्रकारे व्यवस्थापन केल्यास, कमी खर्चात लागवडीच्या उसाएवढेच उत्पादन मिळते व फायदेशीर ठरते. पश्चिम महाराष्ट्रात असे काही यशस्वी शेतकरी आहेत कि ज्यांनी १० खोडवे घेऊन चांगले उत्पादन घेतले आहे. पूर्वहंगामी खोडवा उसाचे उत्पादन हे सुरु आणि आडसाली खोडवा उसापेक्षा जास्त व चांगले मिळते. खोडवा ऊसाच्या अधिक उत्पादनासाठी टिप्स प्रभावी खोडवा उसाच्या व्यवस्थापनसाठी- सर्वसाधारणपणे
Details

गन्ने की खेती में बुवाई के समय पोषक तत्व प्रबंधन और सामान्य कृषि प्रथाएं
Image January 23, 2019 Blog,Blogs Hindi admin

महाधन का महामंत्र में आप सभी किसान भाइयों का मैं संजय शर्मा हार्दिक स्वागत करता हूँ,आप सभी किसान भाइयों को मेरा नमस्कार ! किसान भाइयो,आज हम महाधन का महामंत्र में आज के फेसबुक लाइव सेशन में गन्ने की खेती में बुवाई के समय पोषक तत्व प्रबंधन और सामान्य कृषि प्रथाओं पर चर्चा करेंगे और साथ
Details

गन्ने में खूंटी (रेटून) का प्रबंधन
Image April 2, 2018 Blog,Blogs Hindi admin

अगर उचित ढंग से प्रबंधन किया जाए तो गन्ने की खूंटी या ठूंठ (पके गन्ने के टुकड़े जिन्हें अगली फसल के लिए खेत में रोपा जाता है) से भी अच्छा मुनाफा कमाया जाता है, क्योंकि इनकी लागत कम और उत्पादन शक्ति गन्ने के मूल पौधे के सामान होती है। पश्चिमी महाराष्ट्र में कुछ किसानों ने
Details

पौधों की संख्या नियंत्रित करने के लिए केले में चूसक का प्रबंधन
Image April 2, 2018 Blog,Blogs Hindi admin

केले की अगली फसल में फसल की उपज का वांछित स्तर बनाए रखने के लिए केले की खेती के पूरी अवधि में मूल पौधे के घनत्व और पौधा रोपण का पैटर्न बरकरार रखना चाहिए। इसके लिए जल्दी से जल्दी गैप को भरना और समय पर चूसक का चुनाव करना बेहद ज़रूरी होता है। चूसक (पौधे
Details

अनार के नए उगाए गए पेड़ों की देखभाल
Image April 2, 2018 Blog,Blogs Hindi admin

अनार झाड़ियों पर उगता है और इसे प्राकृतिक रूप बढ़ने को छोड़ दिया जाए तो यह एक सामान्य पेड़ की शक्ल में विकसित नहीं नहीं होता। इसलिए अनार की अच्छी उपज प्राप्त करने और इसके कुशल प्रबंधन के लिए इसे उचित आकार और ढांचा मुहैया कराना बहुत जरूरी है। अनार का पौधा लगाने के बाद
Details

पौधे की वृद्धि और विकास में पोटेशियम (के) की भूमिका
Image March 7, 2018 Blog,Blogs Hindi admin

पोटेशियम कई पादप प्रक्रियाओं के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। यह विकास में कई महत्वपूर्ण नियामक भूमिकाएं निभाता है। एंजाइम ऐक्‍टीवेशन: पोटेशियम पौधे की वृद्धि में शामिल कम से कम 60 विभिन्न एंजाइमों को “सक्रिय” करता है। पोटेशियम (के) एंजाइम अणु के भौतिक आकार को बदलता है, प्रतिक्रिया के लिए रासायनिक रूप से सक्रिय यथोचित
Details

अनार में पोषण प्रबंधन
Image March 7, 2018 Blog,Blogs Hindi admin

खनिज पोषक तत्व प्रकाश संश्लेषण से होने वाले वाले उत्पादन के अवयव होते हैं। कार्बन, हाइड्रोजन, ऑक्सीजन, नाइट्रोजन, सल्फर, मैग्नीशियम, कैल्शियम जैसे पोषक तत्व पौधे की काया के अवयव हैं और अन्य पोषक तत्व उत्प्रेरक के रूप में उपयोगी होते हैं। शोध के अनुसार, 10 मीट्रिक टन अनार का उत्पादन करने के लिए 11.2 किलोग्राम
Details

Mahadhan SMARTEK