टमाटर की खेती युक्तियाँ

जलवायु और मिट्टी

जलवायु और मिट्टी

 

भूमि की तैयारी

भूमि की तैयारी

 

बीज की दर और अंतराल

बीज की दर और अंतराल

 

अंतःकृषि (इंटरकल्चरल) संचालन

अंतःकृषि (इंटरकल्चरल) संचालन

 

फसल पोषण प्रबंधन

फसल पोषण प्रबंधन

 

सिंचाई प्रबंधन

सिंचाई प्रबंधन

 

खरपतवार और खरपतवार प्रबंधन

खरपतवार और खरपतवार प्रबंधन

 

कीट रोग और रोग प्रबंधन

कीट रोग और रोग प्रबंधन

 

पौधों के रोग और रोग प्रबंधन

पौधों के रोग और रोग प्रबंधन

 

फसल काटना और फसल काटने के बाद के उपाय

फसल काटना और फसल काटने के बाद के उपाय

 

टमाटर गर्म मौसम की फसल है। बीज अंकुरण के लिए अनुकूलतम तापमान 26 से 32 डिग्री सेल्सियस है। कार्बनिक पदार्थ से समृद्ध 6.5 – 6.5 पीएच (pH) सीमा वाली अच्छी तरह से सूखी दोमट मिट्टी आदर्श हैं।

अच्छी तरह बोने योग्य होने तक भूमि की जुताई करें। एफवाईएम (FYM) @ 25 टन/हैक्टर (t/ ha) मिला कर खेत को अच्छी तरह से तैयार करें और 60 सेंटीमीटर के अंतराल पर मेड़ें और हलरेखाएँ (गड्ढे) बनाएँ। 50 किलोग्राम एफवाईएम (FYM) के साथ 2 किलोग्राम/हैक्टेयर एज़ोस्पिरिलम और 2 किलो/हैक्टेयर फॉस्फोबैक्टेरिया मिला कर प्रयोग करें।

फसल की किस्म/संकर के प्रकार के आधार पर आम तौर पर अंतराल की दो प्रणालियों का अनुकरण किया जाता है: 1) 60×45 सेंटीमीटर और 2) 45×30 सेंटीमीटर। किस्मों के लिए बीज की दर 160 – 200 ग्राम/एकड़ और संकर के लिए और 60-80 ग्राम/एकड़ है।

25 माइक्रोन मोटाई की काली एलडीपीई (LDPE) शीट से पलवार (मल्च) करें और दोनों सिरों को मिट्टी में 10 सेंटीमीटर की गहराई तक गाड़ दें।

मिट्टी में अनुप्रयोगों के लिए उर्वरक-पूर्व अनुशंसा :

 

टमाटर की खेती में फर्टिगेशन अनुसूची :

 

टमाटर की फसल में उर्वरक उत्पादों के फोलियर (पत्तियों में) अनुप्रयोग की अनुशंसित अनुसूची :

हलरेखाओं (गड्ढों) की सिंचाई करें और मेड़ों के किनारों पर 25 दिनों की उम्र के बीज-पौधों का प्रत्यारोपण करें। रोपण के तीसरे दिन  सिंचाई की जाने की आवश्यकता है। गर्मियों के मौसम के दौरान, हर 5 से 7 दिनों के अंतराल पर सिंचाई आवश्यक है, जबकि सर्दियों में 10-15 दिनों का अंतराल पर्याप्त है।

खरपतवार

टमाटर के प्रत्यारोपण के बाद खरपतवार का प्रबंधन टमाटर की नर्सरी और साथ ही मुख्य खेत दोनों में किए जाने की आवश्यकता है।

खरपतवार प्रबंधन

टमाटर के प्रत्यारोपण के 1-3 दिन बाद पेन्डिमेथेलिन 1.0 किग्रा a.i./एकड़ या फ्लूक्लोरैलिन 1.0 किग्रा a.i./हैक्टेयर जैसे उगने से पूर्व के शाकनाशियों का अनुप्रयोग और रोपण के 30 दिन बाद हाथ से की गई निराई खऱपतवार को नियंत्रण में रखने में सहायता करती है।

  1. फल बेधक प्रबंधन
    • क्षतिग्रस्त फलों और पैदा हुई इल्लियों को इकट्ठा करना और उनका विनाश करना।
    • टमाटर के खेत की सीमाओं गैंदा और अरंडी जैसी जाल फसलें उगाना।
    • आवश्यकता के आधार पर किसी भी कीटनाशक का छिड़काव: इमैमेक्टिन बेंजोएट @ 100 ग्राम/एकड़ या क्लोरेंथ्रैनिप्रोल @ 60 मिलीलीटर/एकड़ या फ्लुबेंडिमाइड @ 40 मिलीलीटर/एकड़ या थियोडाइकार्ब 200 ग्राम/एकड़ या स्पाइनोसैड 75 मिलीलीटर/एकड़।
    • एज़ैडाईरैक्टिन 1.0% ईसी (EC) @ 2.0 मिलीग्राम/लिटर या इंडोक्साकार्ब 14.5% एससी (SC) @ 8 मिलीलीटर/10 लीटर या फ्लुबेंडायामाइड 20 डब्ल्यूजी (WG) @ 5 ग्राम/10 लीटर या नोवैलुरॉन 10% ईसी (EC) @ 7.5 मिलीग्राम/10 लीटर का छिड़काव भी फल बेधक के नियंत्रण में सहायता करता है।
  2. सफेद मक्खी का प्रबंधन
    • रोगग्रस्त छल्ला पड़ी पत्तियों के पौधों को उखाड़ें और नष्ट कर दें
    • कीटों को आकर्षित करने और मारने के लिए 12/हैक्टेयर में पीले चिपचिपा जाल का प्रयोग करें।
    • कार्बोफुरन 3% जी (G ) @ 40 किलोग्राम/हैक्टेयर का मिट्टी में प्रयोग या डाइमेथोएट 30% ईसी (EC) (1.0 मिलीलीटर/लीटर) या मैलाथियोन 50% ईसी (EC) (1.5 मिलीलीटर/लीटर) या ऑक्सीडेमेटॉन-मिथाइल 25% ईसी (EC) (1.0 मिलीलीटर/लीटर) थायामेथॉक्सम 25% डब्ल्यूजी (WG) (4.0 मिलीलीटर/10 लीटर) या एसिटामाइप्रिड @ 100 ग्राम/लीटर का छिड़काव
  1. आर्द्रमारी (डैंपिंग ऑफ़) का प्रबंधन
    • उठी हुई बीज क्यारियों का उपयोग करना
    • बेहतर जल निकासी के लिए हल्की, लेकिन बार-बार सिंचाई
    • कॉपर ऑक्सीक्लोराइड 0.2% या बोर्डेक्स मिश्रण 1% से भिगोना।
    • कवकीय संवर्धन ट्रायकोडर्मा विराइड (Trichoderma viride) (4 ग्राम/किग्रा बीज) या थिरम (3 ग्राम/किग्रा बीज) ही उभरने से पूर्व आर्द्रमारी को नियंत्रित करने का एकमात्र निवारक उपाय है।
    • बादलों वाला मौसम होने पर 0.2% मेटालैक्साइल का छिड़काव
  2. छल्ला पत्ती (लीफ कर्ल) प्रबंधन
    • सफेद मक्खी की निगरानी के लिए पीला चिपचिपा जाल @ 12/हैक्टेयर रखें।
    • खेत के चारों ओर अवरोधक फसलों-अनाजों को उपचाएँ।
    • खरपतवार के पोषकों को हटाना। नेट हाउस या ग्रीन हाउस में संरक्षित नर्सरी
    • वाहक (वेक्टर) को नियंत्रित करने के लिए प्रत्यारोपण के 15, 25, 45 दिन बाद इमिडाक्लोप्रिड @ 0.05% या डायमिथोएट @ 0.05% का छिड़काव करें।

टमाटरों की फसल की कटाई की जाती है और उन्हें ठीक से वर्गीकृत किया जाता है और परिवहन के दौरान पारगमन में फसल की कटाई के बाद नुकसानों से बचाने के लिए और नालीदार गत्ते के डिब्बों या लकड़ी की बास्केट में पैक किया जाता है।

Mahadhan SMARTEK