mahadhan fertilizer

केले के पौधों को सहारा देना या रस्सी से बांधना

केले के पौधों को सहारा देना या रस्सी से बांधना
May 30, 2018 No Comments Blog admin

गुच्छेदार पौधों को उखाड़ फेंकना या तोड़ना, फल की उपज या गुणवत्ता हानि का एक प्रमुख कारण है। पानी और पोषक तत्वों की कमी से जड़ों का कमजोर और सतही हो जाना, तेज हवा या वजनदार गुच्छों का होना इस समस्या के मुख्य कारण हैं।

इस नुकसान की मात्रा को रोकने या कम करने के लिए, हमें गुच्छे के विकास के शुरुआती चरण में पौधे को पर्याप्त सहयोग प्रदान करना जरूरी है। असल में, यह सपोर्ट दो तरीकों से प्रदान किया जाता है यानी सहारा देना-लकड़ी के खंभों से सपोर्ट करना और रस्सी से बांधना- प्लास्टिक की रस्सियों से बांधना या आसपास मौजूद पौधों से मजबूती से लपेटना।

लागत के हिसाब से लकड़ी से सहारा देना, जोड़ने या लपेटने से महंगा हैं। ऊंचाई, भार, झुकाव के आधार पर बांस के एक या दो स्तंभों का उपयोग किया जाता है। भारी गुच्छों को सपोर्ट देने के लिए बांस की मदद से एक असममित एक्स बनाया जाता है और बांस या गुच्छे के डंठल का ‘‘एक्स‘‘ क्रॉस पर रेस्ट दिया जाता है। यह प्रणाली सभी प्रकार की मुश्किलों में उत्कृष्ट सहयोग प्रदान करती है।

बांस से सहारा देना या पट्टी लपेटना पारस्परिक सपोर्ट सिद्धांत पर आधारित है। पास-पास मौजूद पौधों को एक दूसरे की मदद के लिए बांधा जाता है। रस्सी के एक हिस्से को फूल वाले पौधे की गर्दन से बांधा जाता है, तो दूसरे छोर को एक अन्य पौधे की झुकाव वाली दिशा के विपरीत गाड़ दिया जाता है। एक तरफ से बांधने की बजाय दो तरफ से बांधने से पौधे को बेहतर सपोर्ट मिलता है। वैसे तो दो तरफ से बांधना महंगा पड़ता है, लेकिन यह अंतर-सांस्कृतिक संचालन और कटे हुए गुच्छों के परिवहन में बाधा उत्पन्न करता है।

  1. गुच्छों वाले केले के पौधों को लकड़ी या रस्सी के सहारे की जरूरत होती है।
  2. लकड़ी या बांस के दो-दो खंभे एक से बेहतर होते हैं।
  3. प्लांटिंग पैटर्न के अनुसार सपोर्ट देने के लिए दोनों सपोर्ट सिस्टम्स का उचित रूप से उपयोग किया जा सकता है।
  4. गुच्छे को छूने वाले पट्टी/रस्सी/बांस को नजरअंदाज करें।
  5. प्रति सप्ताह एक प्रॉपिंग चक्र नियमित रूप से करें।
About The Author
Translate »
Mahadhan SMARTEK